Operating system क्या है: यह कैसे काम करता है: इसका इतिहास

Operating system क्या है:-

operating system क्या है? इस बात को समझना हमारे लिए बहुत ही जरूरी है, अगर हम कंप्यूटर का बेसिक जानकारी ले रहे हैं तो। कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम का होना उतना ही जरूरी है जितना कि हमारी शरीर के अंदर जान या आत्मा (soul) का होना जरूरी है। अगर हमारी शरीर कंप्यूटर है तो आत्मा ऑपरेटिंग सिस्टम है।

उपर्युक्त बातों से आप समझ गए ही होंगे कि ऑपरेटिंग सिस्टम कितना महत्वपूर्ण है। अाइए अब इसे टेक्निकल भाषा में समझते है।

ऑपरेटिंग सिस्टम यूजर और हार्डवेयर के बीच का एक mediater का काम करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम एक कंप्यूटर के सिस्टम सॉफ्टवेयर का एक प्रोग्राम होता है, जों कंप्यूटर के हार्डवेयर को यूजर को प्रयोग करने की ढंग और उसे कंट्रोल करने की ढंग को सुनिश्चित करता है।

operating system क्या है
ऑपरेटिंग सिस्टम का ब्लॉक डायग्राम

ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर के अलग- अलग हार्डवेयर पार्ट्स को एक साथ जोड़ कर उसे ऑपरेट करने का कार्य करता है । जैसे कि आप कंप्यूटर से इनपुट devices जैसे माउस, कीबोर्ड, प्रिंटर, स्कैनर, बारकोड रीडर, आदि को कनेक्ट करते हैं। और उस ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा काम में लाया जाता है।

जैसे हम लोग कंप्यूटर पर अलग अलग प्रकार के कामों कों करने के लिए अलग अलग सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हैं। ये सॉफ्टवेयर को ऑपरेट कराने का काम कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम करता है।

अतः ऑपरेटिंग सिस्टम सभी सॉफ्टवेयर के लिए एक प्लेटफॉर्म देता है जिस पर सभी प्रकार के सॉफ्टवेयर ऑपरेट करते हैं।

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार (Types of operating system):-

सामान्यतः ऑपरेटिंग सिस्टम को यूजर और कार्य करने के आधार पर निम्न चार भागों में बांट सकते हैं।

1. सिंगल यूजर सिंगल टास्क(single user single task):-

इसके प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा सिर्फ एक ही यूजर के द्वारा एक समय में सिर्फ एक ही काम किया जा सकता है

2. मल्टी यूजर मल्टी टास्क(multi user multi task):-

इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा दो या दो से अधिक यूजर एक ही समय में एक या एक से अधिक कार्य कर सकते हैं। कभी कभी इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम में सौ या हज़ार यूजर एक समय में अनेक कार्य करते हैं। उदाहरण के तौर पर हम mainframe computer को ले सकते हैं ।

3. रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम(Real time opereting system):-

इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम, विभिन्न प्रकार के मशीनरी, scientific instrument, medical instrument आदि को ऑपरेट करने के लिए प्रयोग किया जाता है।इसमें एक लिमिट यूजर के इंटरफेस की capability होती है।

4. सिंगल यूजर मल्टी टास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम(single user multi tasking):-

आजकल के आधुनिक जमाने में इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम की ज्यादा जरूरत पड़ रही है। चाहे वह माइक्रोसॉफ्ट का विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम हो, एप्पल का mac operating system हो, unix ऑपरेटिंग सिस्टम हो या google का एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम हो। ये सब सिंगल यूजर मल्टी टास्किंग के बेस पर कार्य करते हैं। आप अपने मोबाइल के एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम को ही ले लीजिए, इसमें आप गाने सुनने के साथ साथ फोटो एडिटिंग, कैलकुलेटर का प्रयोग और साथ में background में documents को downloading पर भी लगा सकते है।

इसके अलावा और भी बहुत प्रकार के ऑपरेटिंग system है। जैसे –

5. लाइब्रेरी ऑपरेटिंग सिस्टम

6. एंबेडेड ऑपरेटिंग सिस्टम

7. टेम्पलेट ऑपरेटिंग सिस्टम

कंप्यूटर की सबसे प्रसिद्ध ऑपरेटिंग सिस्टम (most popular operating system in computer):-

Comouter और मोबाइल अलग अलग प्रकार के device हैं जिसमे अलग अलग प्रकार के ऑपरेटिंग system इस्तेमाल किए जाते है।

कंप्यूटर की सबसे प्रसिद्ध ऑपरेटिंग सिस्टम माइक्रोसॉफ्ट का विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम है। इसके अलावा linux ऑपरेटिंग सिस्टम और एप्पल का mac ऑपरेटिंग सिस्टम बी प्रसिद्ध है।

ऑपरेटिंग सिस्टम के क्षेत्र में लगभग 82. 7% विंडोज ने अपनी मार्केट बनाए रखा है। इसमें mac os दूसरे स्थान पर 13. 23 % के साथ खड़ा है। और linux ऑपरेटिंग सिस्टम इस क्षेत्र में तीसरे स्थान पर (1.57%) है।

मोबाइल के क्षेत्र में सबसे प्रसिद्ध ऑपरेटिंग सिस्टम:-

दोस्तों जैसे की हम सब जानते हैं कि मोबाइल के क्षेत्र के google कंपनी की एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम सबसे प्रसिद्ध है। यह लगभग 87.5 % प्रयोग में आने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है।

और यह लगभग हर साल 10. 3 परसेंट के growth रेट से बढ़ रहा है। इस क्षेत्र मै एप्पल का ऑपरेटिंग system दूसरे पायदान पर है। लेकिन इसकी हर साल 5.2 % के रेट से इसकी growth rate कम हो रहा है। इस क्षेत्र मै linux का 0.3 % का मार्केट है।

विंडोज operating system क्या है(windows operating system):-

अमेरिका की कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज operating system develop किया। माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के फाउंडर बिल गेट्स है। जैसे कि हम पहले ही पढ़ चुके हैं कि विंडोज operating सिस्टम, डेस्कटॉप, लैपटॉप, पीसी आदि में लगभग पूरी तरह छाया हुआ है। तो अयिए windows operating system के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु को जानते हैं।

1. Windows operating system को माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा पहली बार 25 nov 1985 को version-1.0 के साथ लॉन्च किया।

2. आज के समय में इस ऑपरेटिंग सिस्टम का लेटेस्ट वर्जन windows-10 चल रहा है।

3. Wondows की operating system लगभग 138 भाषा में है।

4. Windows operating system को डेवलप करने वाली कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स दुनिया के दूसरे सबसे धनी व्यक्ति हैं।

5. माइक्रोसॉफ्ट हर साल 143 बिलियन डॉलर का revenue generate करती है।

6. यह दुनिया का सबसे बड़ा सॉफ्टवेयर डेवलपर company है।

Version histroy of windows operating system:-

• Wondows operating system का पहला वजन windows-1.0 है। यह version apple operating system के साथ ही डेवलप किया गया था। लेकिन यह एप्पल के ऑपरेटिंग system के मुकाबले अधिक प्रसिद्ध हो गया।

• Windows version-2.0 को दिसंबर में 1987 को रिलीज किया गया था। इसमें version-1.0 के जो mistake थे उन्हें सुधारा गया। जैसे विंडोज 1.0 overlapping windows पर काम नहीं करता था। जिसे version-2.0 में सुधारा गया और overlapping windows पर काम करने लायक बनाया गया। इसके कुछ समय बाद windows-2.1 version रिलीज किया गया जो दो पार्ट में था एक windows/286 और windows/386 में रिलीज किया गया।

• Wondows-3.0 को 1990 में रिलीज किया गया था।windows-3.0 यह पहला version था जिसकी कॉपी सबसे ज्यादा 2 million छः महीने में बिक गई थी।

• Wondows-3.0 का अपडेटेड version, windows-3.1 march 1992 को आया। इसके बाद एक और अपडेटेड version 1994 me आया।

• Windows का अगला नया वाला version, windows-95, 1995 को आया। यह version microsoft के लिए एक बहुत बड़ी व्यवसायिक स्तर पर सफलता हासिल की थी। इसी version में पहली बार internet explorer का फीचर आया।

• इसके बाद अगला नया version , windows-98 आया 1998 में । इसमें यूएसबी device supportable feature को add किया गया। इसमें internet explorer को अपग्रेड किया गया। यह version july 2006 को terminate कर दिया गया था।

• सन् 2000 में सितंबर के महीने में windows ME version को लाया गया। यह ME का फूल फार्म mellineum edition हुआ। यह डोज आधारित versions का अंतिम version था। इस version में बहुत सारे अच्छे फीचर होने के बाद भी इसे काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। क्योंकि इसकी प्रोसेसिंग स्पीड कम थी और unstability ज्यादा थी।

• इसके बाद अगला version अक्टूबर सन् 2001 में windows-xp आया जो कि काफी फेमस हो गया।

• इसके बाद सन् 2006 में नवंबर में windows vista आया जो काफी लंबी development process के बाद आया था।

• 22 जुलाई 2009 के को vista version से बाद windows-7 version आया जो कि काफी प्रसिद्ध रहा। इसे काफी लोगों ने पसंद भी किया। Windows- xp की तरह। यह version multi touch support, फीचर के साथ था।

• अगला version, windows-8 सन् 2012 में अक्टूबर में आया । और इसका अपडेटेड version-8.1 अक्टूबर 2013 में आया। यह दोनों version को ‘start menu’ हटाने पर कुछ आलोचनाओं का सामना भी करना पड़ा।

• विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम का लेटेस्ट वर्जन wondows-10 है । जो जुलाई 2015 को रिलीज किया गया। जों आज तक चल रहा है। यह version आपको नए लैपटॉप्स में आसानी से देखने को मिल जाएगा।

दोस्तों ये रहा ‘operating system क्या है’ पूरा विश्लेषण । दोस्तों मै आपके लिए ऐसे ही बहुत सारे ऐसे टॉपिक के ऊपर आर्टिकल लाया रहूंगा। जो आपके लिए काफी helpful होगा। धन्यवाद!

Chandu
Chandu

दोस्तों! ये आर्टिकल कैसा लगा कमेंट कर के जरूर बताएं।

Leave a comment