You are currently viewing Mutual fund in Hindi | म्यूचुअल फंड कैसे काम करता है

Mutual fund in Hindi | म्यूचुअल फंड कैसे काम करता है

परिचय:-

आजकल हम अपने पैसे को अलग-अलग तरीके से ग्रो करने की सोचते हैं। इसके लिए हम पैसे को कभी बैंक में जमा करते हैं ताकि बैंक हमें उस पैसे का कुछ ब्याज हमें दें। जो कि यह एक सबसे बेसिक तरीका है। इसके बाद हम कभी फिक्स डिपाजिट तो कभी रिकरिंग डिपॉजिट करते हैं। इन्हीं सब विधियों में से एक विधि होता है म्यूचुअल फंड(mutual fund in Hindi)। जो कि उपर्युक्त सभी विधियों की अपेक्षा ज्यादा रिटर्न देने का वादा या क्लेम करता है। तो आज के इस लेख में हम म्यूचुअल फंड क्या होता है यह कैसे काम करता है। तथा इसमें निवेश कैसे करें यह सब जानेंगे।

म्यूचुअल फंड क्या है (Mutual fund in Hindi):-

म्यूचुअल फंड, पैसों को इन्वेस्ट करने का एक तरीका होता है। यह म्यूचुअल फंड कुछ ग्रुप मेंबर द्वारा बनाया जाता है। जिसमें लोगों द्वारा पैसा जमा किया जाता है। तथा इस फंड में जमा पैसों को उन ग्रुप मेंबर द्वारा अपनी योग्यता के आधार पर विभिन्न प्रकार के कंपनियों के शेयर खरीदे जाते हैं। तथा उनको उन्हीं मेंबर द्वारा मैनेज भी किया जाता है। म्यूचुअल फंड में समय-समय पर उतार चढ़ाव भी होते रहते हैं। अतः इसमें रिस्क भी होता है। अतः हम कह सकते हैं कि अगर रिटर्न ज्यादा है तो रिस्क भी ज्यादा है।

अतः हमें किसी भी प्रकार की फंड को खरीदने या उस फंड में निवेश करने से पहले उस फंड के बारे में अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त कर लें ताकि आप उसमें जब इन्वेस्ट करें तो आपको लाभ प्राप्त हो।

म्यूचुअल फंड का मतलब यही होता है कि एक ऐसा फंड जिसमें लोगों के आपसी सहमति के द्वारा एक बड़ा फंड यानी पैसा इकट्ठा किया जाता है। यह म्युचुअल फंड एक प्रकार से जो लोग उसमें पैसा लगाए हैं उन सब का संयुक्त धन होता है।

mutual fund in Hindi
credit: Business Today

यह म्यूच्यूअल फंड सरकार का एक अंग सेबी (SEBI) के द्वारा कंट्रोल तथा नियमन किया जाता है। म्यूच्यूअल फंड को जो कंट्रोल करता है जैसे मान लीजिए कि कोई बैंक जैसे एसबीआई, आईसीआईसीआई, एचडीएफसी, एक्सिस, बैंक जिस भी कंपनी में यह फंड का पैसा लगाती है। उससे प्राप्त प्रॉफिट में से 0.5 से 1परसेंट का फायदा अपने पास रखती है तथा शेष प्रॉफिट सभी लोगों में उसके लगाए गए पैसे के हिसाब से प्रॉफिट को बराबर बराबर हिस्से में बांट देती है।

इस म्यूच्यूअल फंड में एक और बॉडी होती है जो एनबीएफसी (NBFC) कहलाती है। इस का फुल फॉर्म होता है Non-baking Financial Company.  यह एक प्राइवेट लोगों के द्वारा बनाया गया सिस्टम होता है जो प्राइवेट म्युचुअल फंड का निर्माण करते हैं। यह म्युचुअल फंड किसी भी बैंकिंग सिस्टम द्वारा कंट्रोल नहीं किया जाता है। लेकिन सरकार इसके विज्ञापन के लास्ट में एक चेतावनी जरूर डालती है। इस चेतावनी में यह लिखा होता है कि ‘These are subjected to Market Risk. Please read the all documents carefully.’

म्यूचुअल फंड में जमा पैसा कहां लगाया जाता है: –

मुचल फंड में जमा पैसा निम्न भागों में लगाया जाता है।

  • शेयर मार्केट
  • डिवेंचर
  • इक्विटी

हमारे म्यूच्यूअल फंड का पैसा इन्हीं तीन भागों में अधिकतम करके लगाया जाता है।

शेयर मार्केट के अंतर्गत इन पैसों से विभिन्न प्रकार के कंपनियों के शेयर खरीदा जाता है। तथा जब वह कंपनी ग्रोथ करती है तो हमारा लगाया गया पैसा भी ग्रोथ करता है। उसके बाद जब कंपनी का ग्रोथ रुकने वाला होता है तो हम उस पैसे को निकाल लेते हैं। इस प्रकार हमारे पैसे में जितना परसेंट का ग्रोथ हुआ था। उतना पर्सेंट को सभी लोग में बराबर भागों में बांट दिया जाता है।

डिवेंचर का मतलब यह होता है कि चुकी हमारे यहां बहुत सारी कंपनियां जो काफी बड़ी तो है लेकिन वह काफी ज्यादा घाटे में भी चल रही है। उसके पास कंपनी को चलाने के लिए पैसे नहीं होती है। अतः वह म्युचुअल फंड से पैसे ब्याज पर कर्ज लेती है। और यह वादा करती है कि वह आपके पैसे पर ज्यादा से ज्यादा रिटर्न देगी। अतः जब म्युचुअल फंड का पैसा ऐसे कंपनियों में लगाया जाता है तो इसे डिवेंचर कहते हैं। इसमें कंपनियों का शेयर में हिस्सेदारी नहीं मिलता है। इसमें कंपनियों के द्वारा लिया गया कर्ज या इनका हिस्सेदार आप बनते हैं।

इक्विटी वह सिस्टम होता है जिसके द्वारा आपका पैसा ऐसे कंपनी में लगाया जाता है जो यह क्लेम करती है कि वह कर्ज के साथ-साथ आपको कंपनी के शेयर का भी हिस्सा बनाएगी। यानी कि कर्ज का हिस्सेदार के साथ-साथ उसके कंपनी के कुछ शेयर के मालिक आप भी होंगे।

म्यूचुअल फंड में निवेश कैसे करें: –

अगर हम पहले की बात करें तो म्यूचुअल फंड में निवेश करना थोड़ा कठिन होता था। क्योंकि इसके लिए एजेंट आया करते थे। और हम इस एजेंट के द्वारा म्युचुअल फंड में निवेश करते थे।

लेकिन अब हम इंटरनेट की दुनिया में जी रहे हैं। अतः आजकल बहुत सारे ऐसे ऐप आ गए हैं। जिसके जरिए आप खुद से म्यूचुअल फंड में आसानी से निवेश कर सकते हैं। और उस पर निगरानी भी रख सकते हैं।

इसमें सबसे ज्यादा groww app प्रसिद्ध है लेकिन म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले हम किसी भी फंड में जिसमें हम अपना पैसा निवेश कर रहे हैं उस फंड के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त कर लेना चाहिए।

Leave a Reply