सबस्टेशन पर बैटरी बैंक का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

परिचय

दोस्तों अगर आप कभी किसी भी सबस्टेशन में गए होंगे तो आपने ध्यान दिया होगा कि सबस्टेशन पर एक बैटरी रूम होता जिसमे बहुत सारी बैटरी लगती है। जिसको एक दूसरे से जोड़ कर लाख जाता है। इसीको हम बैटरी बैंक कहते हैं। तो आज के इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको ये बताएंगे को ये सबस्टेशन पर बैटरी बैंक का इस्तेमाल किस लिए की जाती है। और इसका काम क्या है।

सबस्टेशन में प्रयोग होने वाले बैटरी बैंक

सबस्टेशन में चुकी बहुत सारे प्रकार के पैनल होते है। क्योंकि सबस्टेशन पर बहुत सारे फीडर होते है। अतः इस स्थिति में बहुत सारे पैनल के कंट्रोल सिस्टम को ऑपरेट करने के लिए बैटरी बैंक का इस्तेमाल करते है। इसके अलावा भी हम बैटरी का प्रयोग इंडस्ट्री में प्रयोग होने वाले पैनल के कंट्रोल सिस्टम को ऑपरेट कराने के लिए बैटरी का प्रयोग किया जाता है।

https://www.remove.bg/
सबस्टेशन पर बैटरी बैंक का इस्तेमाल

सबस्टेशन में बैटरी बैंक का प्रयोग क्यों करते हैं?

सबस्टेशन में कंट्रोल सिस्टम के अंतर्गत हम बहुत सारी चीज़ें बैटरी के द्वारा हम कंट्रोल करते हैं। जैसे –

  • बैटरी के द्वारा पैनल में लगे सभी प्रकार के प्रोटेक्शन रिले का कंट्रोलिंग किया जाता है। यहां प्रोटेक्शन रिले के अंतर्गत ओवर लोड प्रोटेक्शन रिले, ओवर करंट प्रोटेक्शन रिले, अर्थ फॉल्ट प्रोटेक्शन रिले, आदि हो सकते हैं।
  • बैटरी के द्वारा हम पैनल से जुड़े ट्रिप सर्किट या क्लोजिंग सर्किट को कंट्रोल करते हैं।
  • इसके अलावा भी कई प्रकार के कंट्रोल सिस्टम में लगे उपकरण जैसे इंडिकेटर लाइट, डिजिटल मीटर को auxiliary सप्लाई देना, इंटरलॉकिंग करना आदि प्रकार के कामों में हम बैटरी का प्रयोग करते हैं।
  • बहुत सारे प्रकार के अलार्म जो पावर सप्लाई के जाने पर बजती है। उनको भी हम बैटरी से सप्लाई देते है।
  • पैनल में लगे PLCC पैनल भी बैटरी से ही कंट्रोल किया जाता है।

इन सब में बैटरी बैंक का प्रयोग क्यों किया जाता है?

अब सवाल यह आता है कि आखिर सबस्टेशन पर बैटरी बैंक का इस्तेमाल कोट्रोल सर्किट के लिए क्यों करते हैं। जबकि हम सबस्टेशन का पावर को भी प्रयोग कर सकते है। तो मुख्य कारण यह होता है कि हमे कोट्रॉल सर्किट को लगातार पावर की जरूरत होती है। क्योंकि हमे यही कंट्रोल सर्किट पूरा सबस्टेशन को जानकारी देता है। अतः ऐसे में यदि हम सबस्टेशन से आने वाली पावर का ही प्रयोग कंट्रोल सर्किट के लिए प्रयोग करेंगे। तो यदि किसी कारण वश सबस्टेशन का पावर कट होगा तो हमारा पूरा कंट्रोल सर्किट भी टर्न ऑफ हो जायेगा। जिसे हमे किसी भी प्रकार की रीडिंग और पावर ऑफ होने का कारण तक पता नहीं चल पाएगा। अतः ऐसे में हमे बैटरी का प्रयोग करते है। क्योंकि बैटरी के जरिए हम पावर को आसानी से स्टोर कर सकते हैं।

सबस्टेशन पर कितने वोल्ट की बैटरी प्रयोग की जाती है?

अब सवाल यह आता है कि आखिर हम कितने वोल्ट की बैटरी प्रयोग की जाती है। तो यदि  VCB पैनल में कंट्रोल सर्किट को पावर देना है तो चुकी यहां पर कम (low) पावर को जरूरत होती है। अतः इसमें हम 12 वोल्ट एक बैटरी ही इस्तेमाल करते हैं। नही तो कभी कभी 24 वोल्ट के लिए 12 वोल्ट की दो बैटरी को सीरीज में जोड़ कर प्रयोग करते हैं।

यदि सबस्टेशन 132kV/33kV का है तो इस सबस्टेशन पर कंट्रोल सर्किट के लिए 110 वोल्ट डीसी सप्लाई की जरूरत पड़ती है। अतः 110 वोल्ट डीसी के लिए पावर बैटरी बैंक (बहुत सारी बैटरी ) लगाते है।

यदि 400 kV/132 KV या 765 kV/132 kV का सबस्टेशन है तो वह पर हमे 220 वोल्ट डीसी सप्लाई की जरूरत पड़ती है। अतः इसके लिए ज्यादा बैटरी की जरूरत पड़ती है।

सबस्टेशन पर कौन सी बैटरी का प्रयोग करते हैं?

एक सर्वे के अनुसार यह देखा गया को लगभग 76% सबस्टेशन पर लेड एसिड बैटरी का प्रयोग किया जाता है। जबकि बाकी 14 % सबस्टेशन पर वाल्व रेगुलेटेड टाइप के बैटरी का प्रयोग किया जाता है। और 6% सबस्टेशन पर निकेल कैडमियम बैटरी का प्रयोग किया जाता है। ये निकेल कैडमियम वाले बैटरी का प्रयोग वैसे स्थानों पर किया जाता है जहां का क्लाइमेट ज्यादा गर्म हो।  और 4% सबस्टेशन पर अन्य टाइप के बैटरी का इस्तेमाल किया जाता है।

Leave a comment